Chhattisgarhi rajbhasha Aayog kya hai, kaha sthit hai

Rate this post
Chhattisgarhi Rajbhasha Aayog, छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के प्रथम अध्यक्ष कौन थे
Chhattisgarhi Rajbhasha Aayog

Chhattisgarhi Rajbhasha Aayog एक प्रकार का संगठन है जो की छत्तीसगढ़ी भाषा को एक विशेष दर्जा दिलाने के लिए बनाया गया है। और ये अभी भी सक्रिय है। छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग विधेयक को 28 नवम्बर 2007 को पारित किया गया तथा इसके पास होने कर ही उपलक्ष्य में हर साल 28 नवम्बर को राजभाषा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस राजभाषा का प्रकाशन 11 जुलाई 2008 को राजपत्र में किया गया। इस आयोग का कार्य 14 अगस्त 2008 से चालू हुआ इस आयोग के प्रथम सचिव – पद्मश्री डॉ. सुरेन्द्र दुबे जी रहे, छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के प्रथम अध्यक्ष पं. श्यामलाल चतुर्वेदी थे।

छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग के उद्देश्य

आज आप कहीं भी जाये आपको संवाद करने के लिए किसी ना किसी भाषा की आवश्यकता होती है बिना आप अपने भाषा के कोई देश अच्छे से कार्य का सञ्चालन नहीं कर सकता है शायद इसी कारण इसकी आवश्यकता हुई। छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग के उद्देश्य और लक्ष्य, इस प्रकार हैं

राजभाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में दर्जा दिलाना इसका पहला उद्देश्य रहा।

त्रिभाषायी भाषा के रूप में शामिल पाठ्यक्रम में शामिल करना।

छत्तीसगढ़ी भाषा को राजकाज की भाषा में उपयोग में लाना इसका प्रमुख उद्देश्य है

छत्तीसगढ़ की जनता मैं इसकी प्रमुखता फैलाना

छत्तीसगढ़ी राजभाषा को आगे बढ़ाने के लिए Chhattisgarhi Rajbhasha Aayog द्वारा कई योजनाए चलाई जो इस प्रकार है

योजनाएं :- *

*माई कोठी योजना – लेखकों से उनकी छत्तीसगढ़ी में प्रकाशित रचनाओं की दो-दो प्रति खरीदना।

* बिजहा योजना – विलुप्त हो रहे छत्तीसगढ़ी शब्दों को संकलित करने के लिए चलाया गया अभियान। जिसका उद्देद्गय राज्य के सभी लोगों से प्रचलन से बाहर हो रहे सभी शब्दों को संग्रह करने की योजना थी

इसके अलावा इस राजभाषा आयोग ने और भी बहुत सारे काम किये छत्तीसगढ़ी बोली को आगे बढ़ाने के लिए जो की इस प्रकार से है

शब्द कोश –

हिंदी – छत्तीसगढ़ी शब्दकोश।

छत्तीसगढ़ी – हिन्दी शब्दकोश।

प्रकाशन – पांडुलिपि प्रकाशन।

शोध – राम चरित मानस में छत्तीसगढ़ी शोध।

इस आयोग में कुछ ऐसी भी बाते हैं जिनके कारण यह बहुत ही प्रसिद्ध हुआ है जो की इस प्रकार है

छत्तीसगढ़ी भाषा को लोकप्रिय बनाने के राज-काज के दिशा में इसके लिए कार्य किया गया।

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग से जुडी महत्वपूर्ण जानकारियाँ

छत्तीसगढ़ राज्यभाषा दिवस कब मनाया जाता है

छत्तीसगढ़ राज्यभाषा दिवस प्रत्येक वर्ष आयोग विधेयक 28 नवम्बर 2007 को पारित किया गया तथा इसके पास होने कर ही उपलक्ष्य में हर साल 28 नवम्बर को राजभाषा दिवस के रूप में मनाया जाता है

छत्तीसगढ़ राज्यभाषा आयोग का स्थापना, एवं कार्य कब प्रारंम्भ हुआ था

छत्तीसगढ़ राज्यभाषा आयोग का स्थापना एवं इसका कार्य 14 अगस्त 2008 को प्रारंम्भ किया गया था

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग कहां स्थित है

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में स्थित है

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के प्रथम अध्यक्ष कौन थे

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के प्रथम अध्यक्ष पं. श्यामलाल चतुर्वेदी थे

छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग के प्रथम सचिव कौन थे

छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग के प्रथम सचिव पद्मश्री डॉ. सुरेन्द्र दुबे जी थे

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के वर्तमान अध्यक्ष 2021 के कौन है

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के वर्तमान अध्यक्ष 2021 के  डॉ.विनय पाठक है

chhattisgarh rajbhasha aayog official website

Chhattisgarh Rajbhasha Aayog Website – https://chhattisgarh.mygov.in/ है

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग का प्रांतीय सम्मेलन की सूची

क्रमांकप्रांतीय सम्मेलन,स्थान,सम्मिलित व्यक्तितारीख
1प्रथम प्रांतीय सम्मेलनभिलाईnull23 से 24 फरवरी 2013
2द्वितीय प्रांतीय सम्मेलनरायपुरnull24 से 25 फरवरी 2014
3तृतीया प्रांतीय सम्मेलनबिलासपुरnull20 से 21 फरवरी 2015
4चतुर्थ प्रांतीय सम्मेलनकोरबाडॉ.पालेश्वर प्रसाद शर्मा19 से 20 फरवरी 2016
5पंचम प्रांतीय सम्मेलनराजिमडॉ. कवी पवन दीपक28 से 29 फरवरी 2017
6षष्ठम प्रांतीय सम्मेलनबेमेतराडॉ. विमल कुमार पाठक19 से 21 जनवरी 2018
Sharing Is Caring:

Leave a Comment