why dead body floats on water in hindi

Rate this post

मृत पानी पर क्यों तैरता है हिंदी में

(why do dead bodies floats on water in hindi)

अक्सर आपने शरीर विज्ञान से संबंधित बहुत से सामान्य ज्ञान है देखा होगा जिसमें आपको विभिन प्रकार कि जानकारियां दी जाती है ! लेकिन यहां जनरल नॉलेज General Knowledge सबसे अलग है ! क्योकि अक्सर खबरों में देखने को मिलता है की हैं, कुओं में इंसान का मृत शरीर

तैरताने लगता है| परंतु जीवित व्यक्ति का शरीर पानी में डूब जाता है | इसके पीछे के तथ्य को आपको कारण सहित बताएंगे कि मृत शरीर पानी में क्यों तैरता हैं जबकि जिंदा इंसान डूब जाता हैं Why Dead Body Floats On Water In Hindi | तो चलिए जानते है इसके पीछे के कारण को जानते है इसके पीछे के राज को क्यों मृत पानी पर क्यों तैरता है हिंदी में

क्यों मृत शरीर पानी में तैरता हैं, जबकि जिंदा इंसान डूब जाता हैं

(why Dead Body Floats and Living Body Sinks)

Why Dead Body Floats On Water In Hindi

आमतौर पर देखा होगा कि किसी मृत व्यक्ति का शरीर पानी पर तैरने लगता है, जबकि जिंदा इंसान डूब जाता हैं किसी वस्तु का पानी पर तैरने उसके घनत्व और उस वस्तु द्वारा हटाए गए पानी की मात्रा पर निर्भर करता है, आमतौर पर जिन वस्तुओं

इसे भी पढ़े

का घनत्व पानी से कम होता है वे पानी पर तैरती है और जिन वस्तुओं का घनत्व पानी से अधिक होता है वह पानी में डूब जाती है साथ ही साथ वही वस्तु पानी में तैरती हैं जिसके द्वारा हटाए गए पानी का भार उस वस्तु के भार के बराबर होता है मनुष्य के

शरीर का घनत्व पानी से कम होता है इसलिए जीवित मनुष्य पानी में गिर जाने पर कुछ क्षणों के लिए तैरता है जब उसके शरीर में पानी भर जाता है तो उसका घनत्व बढ़ जाता है और वह पानी में डूब जाता जब आदमी मर जाता है तो उसका शरीर

पानी में खुलने लगता है इसके शरीर का आयतन बढ़ जाता है और वह शरीर का घनत्व कम हो जाता है जब शरीर का घनत्व पानी से कम हो जाता है तो मुर्दा पानी में तैरने लगता है (dead bodies floats on water)

मौत के बाद शरीर में होने वाली क्रियाएं जिससे शरीर पानी में तैरता हैं

जब कोई व्यक्ति मर जाता है तो उसके अंदर गैस पैदा होने से उसका शरीर पानी में फूलने लगता, फूलने की वजह से शरीर का आयतन बढ़ जाता है, और शरीर का घनत्व कम हो जाता है. इस स्थिति में शव पानी पर तैरने लगता है |

मृत शरीर डीकंपोज होने लगता है

आप ऐसे भी समझ सकते हैं कि जब व्यक्ति मृत हो जाता है तो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली काम करना बंद कर देती है. शरीर डीकंपोज होने लगता है. मृत शरीर में बैक्टीरिया उसकी कोशिकाओं और ऊतकों को खत्म करना शुरू कर देते हैं. बैक्टीरिया के कारण शरीर के अंदर मौजूद विभिन्न गैसों जैसे मीथेन, अमोनिया, कार्बन डाइऑक्साइड, हाइड्रोजन आदि का शरीर में बनना और निकलना शुरू हो जाता है. तब ये तैरने लगता है

यहाँ चीजे भी पानी पर तैरते हुए देखा होगा

आमतौर पर हम पानी में बहुत सारी चीजें तैरते देखते हैं. लकड़ी कागज, पत्ते, इनके साथ ही बर्फ भी ऐसी चीज है जो पानी में डूबती नहीं है. सामान्य सा नियम यह है कि भारी चीज पानी में डूब जाती है, लेकिन हल्की चीज पानी में तैरने लगती है.

Sharing Is Caring:

Leave a Comment