Demat Account In Hindi | डीमैट अकाउंट कैसे खोलें पूरी जानकारी 

5/5 - (1 vote)

हेलो दोस्तों! अपने डिमैट अकाउंट क्या होता है और डिमैट अकाउंट कैसे खोलें इसके बारे में न जाने कितनी बार सुना होगा आपके भी मन में यह सवाल जरूर आता होगा कि डिमैट अकाउंट क्या है और यह क्या काम करता है।

अगर आप भी डिमैट अकाउंट के बारे में पूरी जानकारी लेना चाहते हैं तब तो आपको इस Article को अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि आज के इस लेख में हम आपको Demat Account In Hindi के बारे में पूरा विस्तार रूप से बताने वाले है और हम आपको यह भी बतएंगे कि डीमेट अकाउंट के फायदे क्या-क्या हैं।

आपको बता दे अगर आप शेयर मार्किट में निवेश करना चाहते है तो Share Market मैं निवेश करने के लिए डीमेट अकाउंट का इस्तेमाल किया जाता है शेयर बाजार में हम किसी कंपनी का शेयर खरीद और बेचने के लिए Demat Account का होना जरूरी है। Demat Account को खुलवाने के लिए हमारे पास कुछ जरूरी दस्तावेज होना चाहिए उसके बिना आप अपना Demat खाता नहीं खोल पाएंगे वह क्या है आइए लेख में जानते हैं।

दोस्तों अगर आपको शेयर मार्किट से कैसे पैसे कमाए इसके बारे में जानना है तो उससे पहला आपको ये जानना जरूरी है की डिमैट अकाउंट क्या है और ये किस काम आता है।


दोस्तों चलिए अब जानते है की डिमैट अकाउंट क्या है।

डिमैट अकाउंट क्या है? (What is Demat Account?)

Demat Account आमतौर पर शेयर बाजार में इस्तेमाल किया जाता है डिमैट खाता के जरिये लोगों online Share को खरीद कर digitaly स्टोर कर सकते है। शेयर मार्किट में निवेश करने से पहला आपको डीमैट अकाउंट की जरूरत होती है।

जैसे हम अपना पैसा बैंक के खाता में रखते हैं वैसे ही डिमैट खाता वह होता है जिसमें लोग अपने खरीदे हुए Share रखते हैं Demat का पूरा नाम Dematerialize होता है इसका इस्तेमाल Share को Digitally या फिर इलेक्ट्रॉनिक रूप से रखने किया जाता है।

अगर आपके पास Demat Account नहीं होगा तब आप शेयर बाजार से शेयर ना खरीद सकते हैं और ना ही बेच सकते हैं इसीलिए अगर आपको Share Bazaar में Stock खरीदना है तब आपके पास Demat Account होना बहुत ही आवश्यक है।

अगर आप पहले के समय में देखेंगे तब जब लोग शेयर खरीदते थे तब उन्हें कंपनी कुछ जरूरी दस्तावेज भजती थी तभी जाकर यह यकीन होता था कि आपने उस कंपनी का शेयर खरीदा है पहले के समय में शेयर बाजार मर निवेश करने में बहुत परेशानी होती थी।

लेकिन जब से सब कुछ Digital हो गया है तब से हमारे देश ने बहुत ज्यादा तरक्की कर लिया है और आज के समय में किसी Company का Share खरीदना और बेचना बहुत आसान हो गया है और आप कभी भी किसी भी कंपनी का शेयर खरीद सकते हैं और तुरंत बेच भी सकते हैं इसके लिए बस आपके पास Demat Account होना चाहिए।

Demat Account Meaning in Hindi 

Demat Account का मतलब एक ऐसा अकाउंट होता है जिसमें आप किसी भी कंपनी के शेयर सही सलामत सुरक्षित रूप से रखते हैं जैसे कि हम बैंक में अपने पैसों को सुरक्षित रखते हैं वैसे ही डिमैट खाता मैं हम अपने Share को सुरक्षित रखते हैं।

कई सारे लोग डिमैट अकाउंट इन हिंदी के बारे में जानना चाहते हैं लेकिन उनको कहीं से भी पूरी जानकारी नहीं मिलती है मैं आपको बताऊंगा डिमैट अकाउंट जरूरी क्यों है अगर आप शेयर मार्केट में पैसा कमाना चाहते हैं तब आपके पास डिमैट अकाउंट होना बहुत जरूरी है।

आसान भाषा में बोले तो डिमैट अकाउंट वह बैंक है जहा आप अपने द्बारा खरीदे गए किसी भी कंपनी को शेयर को जमा रखते हैं।

दोस्तों अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा की डिमैट अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं तो आइए वह भी जानते हैं।

Types of Demat Account in Hindi

शेयर मार्केट में पैसा निवेश करने के लिए आपके पास Demat Account होना चाहिए Demat Account आमतौर पर तीन प्रकार के होते हैं जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • Regular Demat Account (नियमित डीमैट खाता) 
  • Repatriable Demat Account (प्रत्यावर्तनीय डीमैट खाता)
  • Non-Repatriable Demat Account (गैर प्रत्यावर्तनीय डीमैट खाता)

चलिए अब Types of Demat Account के बारे में विस्तार से जानते है।

#1. Regular Demat Account 

Regular Demat Account सिर्फ उन लोगों के लिए उपलब्ध है जो भारतीय हैं। शेयर बाजार में एंट्री करने वाले जितने भी निवेशक है उन सभी के लिए रेगुलर डिमैट अकाउंट होता है।

इसमें सभी निवेशक भारतीय होते हैं और इसके जरिये लोग भारतीय शेयर मार्केट में पैसा निवेश करते हैं आप यह रेगुलर डिमैट अकाउंट किसी भी रजिस्टर्ड ब्रोकर के पास जाकर खुलवा सकते हैं।

#2. Repatriable Demat Account 

Repatriable Demat Account एक तरह का non-resident Indians (NRIs) Demat Account है इस डिमैट अकाउंट के जरिये विदेश वाले प्रवासी भारतीय लोग भारत के शेयर मार्केट में पैसा निवेश कर सकते हैं।

जितनी भी Traders और Investors है वह इन अकाउंट के माध्यम से विदेश में Fund Transfer ट्रांसफर भी कर सकते हैं Repatriable Demat Account मैं Joint Holder की भी सुविधा दी जाती है।

#3. Non Repatriable Demat Account 

इस खाते को भी NRIs के लिए बनाया गया है इसमें बाहर के लोग भारतीय शेयर बाजार में पैसा निवेश कर सकते हैं लेकिन इस खाते से विदेश में फंड ट्रांसफर नहीं कर सकते हैं आमतौर पर इस खाते के लिए NRO (National Reconciliation Ordinance) बैंक अकाउंट की आवश्यकता होती है।

यह खाता उन लोगों के लिए है जिनकी कमाई भारत में भी होती है और विदेश में भी होती है दोनों कमाई को एक साथ Manage करने के लिए NRO खाते का उपयोग किया जाता है।


चलिए अब जानते है की ट्रेडिंग अकाउंट और डीमैट अकाउंट में अंतर क्या-क्या है।

Trading Account and Demat Account Difference 

दोस्तों अब जानते हैं कि ट्रेडिंग अकाउंट और डिमैट अकाउंट में क्या अंतर होता है क्योंकि अभी भी बहुत सारे लोगों को इन दोनों में फर्क नहीं पता है और यही पर लोग हमेशा गलती करते हैं इन दोनों अकाउंट में फर्क जानना बहुत जरूरी है नहीं तो आप शेयर बाजार में पैसा नहीं कमा पाएंगे।

Trading Account

ट्रेडिंग अकाउंट का मतलब बहुत ही आसान है जैसे मैंने आपको पहले बताया कि हमें शेयर मार्केट में अगर किसी कंपनी का शेयर खरीदना है या फिर बेचना है तब वह शेयर रखने के लिए हमें एक Demat खाते की जरूरत पड़ती है।

उसी तरह अगर आपको उस शेयर को कहीं पर बेचना है या फिर खरीदना है तब इसके लिए आपको ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता पड़ती है आसान भाषा में बोला जाए तो ट्रेडिंग अकाउंट किसी भी कंपनी का Stock खरीदने में तथा बेचने में काम आता है।

Demat Account 

डिमैट अकाउंट वह होता है जिसमें हम किसी भी कंपनी के शेयर को बहुत ही सिक्योरिटी के साथ रखते हैं बिल्कुल उसी तरह जिस तरह हम अपना पैसा Bank मैं रखते हैं।

अगर आपको शेयर बाजार में पैसा निवेश करना है तब आपके पास डिमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट दोनों होना चाहिए तभी आप शेयर मार्केट में पैसा निवेश करके वहां से अच्छा Profit कमा सकते हैं।

डिमैट अकाउंट खोलने में कितने रुपए लगते हैं

डीमेट अकाउंट खोलने के लिए बहुत ज्यादा पैसा लगता है अगर आपने भी यह बात कही सुनी है तब आपने गलत सुना है डीमेट अकाउंट खुलवाने के लिए आपको ज्यादा पैसा नहीं देना पड़ता है बहुत ही कम शुल्क में डिमैट अकाउंट खुल जाता है।

अगर आपको शेयर मार्केट में आना है तब आप अपना डिमैट अकाउंट मात्र ₹300 से लेकर ₹600 के बीच में बहुत ही आसानी से खुलवा सकते हैं और शेयर बाजार में पैसा निवेश करना शुरू कर सकते हैं।

डिमैट अकाउंट खुलवाने का चार्ज तो बहुत कम होता है लेकिन उसको संभालने का भी कंपनी चार्ज लेती है जिसे वार्षिक रखरखाव शुल्क (Annual Maintenance Charge) बोलते है। यह चार्ज अलग अलग कंपनी की अलग अलग हो सकती है।

अभी के समय में ऐसे बहुत सारे Applications है जो डीमेट अकाउंट फ्री में खुलवाने की सुविधा दे रही है लेकिन वार्षिक रखरखाव शुल्क लेते है। अगर आपको फ्री में डीमैट अकाउंट खोलना है तो आप Upstox में अकाउंट कैसे खोलें इसके बारे में जानना चाहिए क्योकि Upstox में आप फ्री में अकाउंट खोल सकते है।


चलिए अब जानते है की डिमैट खाता कैसे और कहां खोलें।

डिमैट खाता कैसे और कहां खोलें?

डिमैट खाता NSDL और CDSL द्बारा खोला जाता है लेकिन डिमैट खाता खुलवाने के लिए आपको NSDL और CDSL मैं जाने की कोई जरूरत नहीं है क्योकी ये काम अब ऑनलाइन हो जाता है।

पहले के समय में शेयर मार्केट इतना Digital नहीं था इसलिए हमें डिमैट खाता खुलवाने के लिए संस्थाओं के पास जाना पड़ता था।

लेकिन अब हम पूरी तरह से Digital हो चुके हैं इसीलिए हम अपना डीमेट खाता खुलवाने के लिए ऑनलाइन का सहारा भी ले सकते हैं या फिर किसी बैंक और स्टॉक ब्रोकर के पास जाकर भी खुलवा सकते हैं।

आपको अपना डिमैट खाता खुलवाने के लिए कुछ भी करने की आवश्यकता नहीं है आप सिर्फ ऐसे स्टॉक ब्रोकर या फिर बैंक के पास जाकर एप्लीकेशन दे सकते हो जो डिमैट अकाउंट खोलने की सुविधा देती है।

अगर आप कहीं जाना नहीं चाहते हैं तब आप घर बैठे ऑनलाइन तरीके से भी अपना डिमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवा सकते हैं आज भारत में बहुत सारे डिस्काउंट ब्रोकर है जो फ्री में Demat Account खोलते है।

आज डीमैट अकाउंट खुलबाने के लिए थीं तरिके उपलब्ध है आप इनमे के किसी के पास से दमत अकाउंट खुलवा सकते है।

  1. Full Service Broker
  2. Discount Service Broker
  3. Bank

डिमैट खाता कौन खोलेगा

भारत में डिमैटखाता खोलने का काम दो संस्था करती है पहला CDSL (Central Securities Depository Limited) और दूसरा NSDL (National Securities Depository Limited) आज के समय में 500 से भी ज्यादा Agents इन Depositories के लिए काम करते हैं।

जिसे हम लोग DP के नाम से भी जानते हैं इन लोगों का काम ही है डिमैट खाता खोलना। बहुत ही कम पैसे में आपका डिमैट अकाउंट, ट्रेडिंग अकाउंट खुल जाता है। लेकिन आप अपना Demat Account किसी Discount Broker के जरिये खोलिये क्योकि डिस्काउंट ब्रोकर बहुत से सर्विस फ्री में उपलब्ध करते है और यहां पर brokerage charges बहुत काम होते है इसके अलाबा Delivey Charges zero होते है।

भारत में बहुत सरे Discount Broker उपलब्ध है Zerodha or Groww में demat अकाउंट खोलना बहुत आसान है Groww App में अकाउंट कैसे बनाएं इसपर हमने लेख लिखा है आप चाहे को उससे पढ़ सकते है।

चलिए अब देखते है की डिमैट अकाउंट खोलने के लिए कौन से डॉक्यूमेंट होनी चाहिए

डीमेट अकाउंट खोलने के लिए आपके पास कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट होनी चाहिए जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • Pan Card
  • Address Card
  • Income Proof
  • Bank Details
  • Photograph
  • Scan Signature

डिमैट अकाउंट के फायदे

  • डिमैट अकाउंट के माध्यम से आप शेयर बाजार में किसी भी कंपनी का स्टॉक बहुत ही आसानी से खरीद सकते हैं और और जब चाहे बेच भी सकते हैं वहां आपके शेयर्स पूरी तरह से सुरक्षित होते हैं।
  • पहले के समय में शेयर को ट्रांसफर करने में बहुत ज्यादा समय लगता था लेकिन अब बहुत ही कम समय में अपने डीमेट खाता से दूसरे के खाते में बहुत ही आसानी से शेयर ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • पहले के समय Share को बेचने में बहुत ही ज्यादा समय लगता था क्योंकि उस समय आप एक Share को नहीं बेच सकते थे आपको एक साथ कई Share को बेचना पड़ता था लेकिन अब ऐसा नहीं है आप डिमैट खाते के जरिए एक अकेले Share को भी बहुत ही आसानी से Buy और Sell कर सकते हैं।
  • आज के समय में आप अपने डिमैट अकाउंट में अपने किसी नॉमिनी को जोड़ सकते हैं पहले के समय में यह संभव नहीं होता था।
  • डीमैट खाते में शेयर सुरक्षित रहते है आप जब चाहे अपने शेयर को चैक कर सकते है।

निष्कर्ष

दोस्तों, Demat Account होना आज बहुत जरूरी है क्योकि जब भी हम अपने पैसे को शेयर बाजार में निवेश करते है तो डीमैट अकाउंट की जरूरत पड़ती है इसलिए सबके पास डीमैट अकाउंट होना जरूरी है।

अगर आपने अब तक अपना डिमैट अकाउंट नहीं खुलवाया है तो आप डीमेट अकाउंट जरूर खुलवाए और आज के समय में सब कुछ ऑनलाइन हो जाता है तब आप ऑनलाइन तरीके से अपना डिमैट और ट्रेडिंग अकाउंट बहुत ही आसानी से खुलवा सकते हैं।

इस लेख में आज हमने Demat अकाउंट के बारे में पूरी जानकारी साझा कि मुझे आशा है कि आप को इस लेख से में साझा की हुई जानकारी अच्छी लगी होगी ।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro